रमेश मेन्दोला – एक जीवन परिचय।

प्रदेश के सर्वाधिक लोकप्रिय जननेताओं में शुमार श्री रमेश मेन्दोला एक मर्मज्ञ राजनीतिज्ञ एवं सामाजिक कार्यकर्ता है। एक कुशल संगठक के रूप में उन्होंने शहर भाजपा को नई ऊंचाइयां प्रदान की है। वे 2008 से लगातार प्रदेश की इंदौर-2 सीट से विधायक है। वे 2013 के विस चुनाव में प्रदेशभर में रिकॉर्ड सर्वाधिक मतों से जीतने वाले विधायक भी है।

मेश मेन्दोला का जन्म इंदौर में श्री चिंतामण मेन्दोला एवं श्रीमती रामप्यारी मेन्दोला के घर हुआ। घर के धार्मिक एवं आध्यात्मिक वातावरण का बालक रमेश के बालमन पर गहरा प्रभाव पड़ा। उनकी माताजी को रामचरितमानस की चौपाइयां कंठस्थ थी। पिताजी का स्वभाव अत्यंत ही सरल, सहज था मगर अन्याय एवं गलत के विरुद्ध उन्होंने हमेशा आवाज़ उठाई। यह सभी गुण रमेश मेन्दोला को विरासत में मिले है।

राष्ट्रहित एवं जनहित के मुद्दों को सर्वोपरि समझने वाले रमेश मेन्दोला इस बात का पूरा श्रेय राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संस्कारों एवं वहां सीखाए गए अनुशासित जीवनशैली को देते है। बचपन में उस समय के वरिष्ठ स्वयंसेवक श्री राजेन्द्र श्रीवास्तव ने बाल स्वयंसेवक के रूप में उन्हें आरएसएस से जोड़ा था। आज भी अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकालकर वे शाखा में जाना नहीं भूलते।

कॉलेज में अपनी पढ़ाई के दौरान वे श्री कैलाश जी विजयवर्गीय के साथ अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गए। तब से लेकर आज तक रमेश जी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने अपने पसंदीदा विषय राजनीति विज्ञान एवं लोक प्रशासन में एमए किया है।

राजनीतिक जीवन परिचय।

प्रदेश भाजपा में कुशल रणनीतिकार एवं संगठक के रूप में अपनी विशिष्ट पहचान बना चुके रमेश जी संगठन में मिट्टी पकड़ नेता के रूप में जाने जाते है। घर के अनुशासित माहौल एवं देशप्रेम की भावना ने उन्हें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। अपनी मेहनत एवं पूर्ण मनोयोग से उन्होंने संघ के प्राथमिक और प्रथम वर्ष का प्रशिक्षण पूर्ण किया। संघ की शिक्षा एवं संस्कारों को ही उन्होंने प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से अपने राजनीतिक एवं सामाजिक जीवन का आधार बनाया है।

 

रमेश जी ने कॉलेज के दिनों में श्री कैलाश जी विजयवर्गीय के साथ मिलकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद को शहर में एक नई दिशा एवं दशा प्रदान की। उनके एबीवीपी के दिनों के कई साथी छात्र आज भी रमेश जी की कार्यक्षमता एवं छात्रहित के मुद्दों पर उनकी आरपार की लड़ाई को आज भी याद करते है।

 

रमेश जी के राजनीतिक जीवन की शुरुआत भाजपा संगठन के मंडल महामंत्री के रूप में हुई। वे पहले इंदौर के विधानसभा क्षेत्र-2 के मंडल महामंत्री और फिर अध्यक्ष चुने गए। मंडल अध्यक्ष के रूप में उन्होंने अपने दो सफल कार्यकाल पूर्ण किए। 1994 में हुए नगर निगम चुनाव में वे बजरंग नगर वार्ड-12 से पार्षद चुने गए। 1999 और 2004 के चुनाव में वे अपने गृह क्षेत्र नंदानगर स्थित वार्ड क्रमांक 13 से लगातार दो बार पार्षद निर्वाचित हुए। दूसरी बार नन्दा नगर से पार्षद लड़ते हुए उन्होंने अपने निकटम प्रतिद्वन्दी कांग्रेस के उम्मीदवार की जमानत जब्त करा दी थी। जब श्री कैलाश विजयवर्गीय इंदौर के महापौर बने तब उन्होंने रमेश जी को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देते हुए एमआईसी सदस्य मनोनीत किया।

 

सन 2004 में वे भाजपा की इंदौर महानगर इकाई के अध्यक्ष चुने गए। उनकी नेतृत्व क्षमता एवं कार्यकर्ताओं को साधने की उनकी कला का लोहा मानते हुए प्रदेश भाजपा संगठन ने उन्हें प्रदेश कार्यसमिति का सदस्य बनाया।

 

2008 के विधानसभा चुनाव में वे इंदौर के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक दो से विधायक चुने गए। आज वे विधानसभा की विभिन्न समितियों के सदस्य का दायित्व निभा रहें हैं।

 

रमेश मेन्दोला मध्यप्रदेश में सर्वाधिक मतों से जीतने वाले विधायक है। 2013 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी पर 91017 से जीत दर्ज कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। इस चुनाव में उन्हें 1,33,669 मत प्राप्त हुए जबकि निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी सिर्फ 42,652 मतों पर ही सिमट गए। जीत का ये बड़ा भारी अंतर ही

 

उनकी जनप्रियता एवं जनमानस से उनके सीधे जुड़ाव का प्रत्यक्ष प्रमाण है।

लेटेस्ट न्यूज़

सर्वाधिक मतों से जीतने वाले विधायक

2008 के विधानसभा चुनाव में वे इंदौर के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक दो से विधायक चुने गए। आज वे विधानसभा की विभिन्न समितियों के सदस्य का दायित्व निभा रहें हैं।

रमेश मेन्दोला मध्यप्रदेश में सर्वाधिक मतों से जीतने वाले विधायक है। 2013 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी पर 91017 से जीत दर्ज कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया। इस चुनाव में उन्हें 1,33,669 मत प्राप्त हुए जबकि निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी सिर्फ 42,652 मतों पर ही सिमट गए। जीत का ये बड़ा भारी अंतर ही

उनकी जनप्रियता एवं जनमानस से उनके सीधे जुड़ाव का प्रत्यक्ष प्रमाण है।

इंदौर - २ (चुनाव )

२००८

प्रथम विधान सभा चुनाव

भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 2008 के विधान सभा चुनाव में 75333 मत प्राप्त हुए।

२०१३

विधान सभा चुनाव जीत।

भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 2013 के विधान सभा चुनाव में 133669 मत प्राप्त हुए।

२०१८

विधान सभा चुनाव जीत।

भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर 2018 के विधान सभा चुनाव में 138794 मत प्राप्त हुए।

काम रुके ना, देश झुके ना

ना मुझे थकना है, ना रुकना है … बस चलते रहना है, चलते रहना है।

रमेश मेन्दोला

मेरा निजी अनुभव

दादा दयालु के बारे में क्या कहूँ। क्षेत्र में आज जितना भी विकास हुआ है, वह दादा की ही देन हैं। उन्हीं की वजह से यहाँ इलेक्ट्रॉनिक कॉम्पेक्स, रेडीमेड कॉम्प्लेक्स, सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र जैसे दर्जनों क्षेत्र विकसित हुए है जहां हजारों लोगों को रोजगार प्राप्त हुआ।

मेरा निजी अनुभव

धार्मिक एवं सामाजिक क्षेत्र में रमेश जी का योगदान अविस्मरणीय है। चाहे मंदिरों का निर्माण हो या वृद्धाश्रम-अनाथाश्रम बनवाना हो, रमेश जी सदैव समाज के कार्यों में बढ़चढ़कर हिस्सा लेते रहे है। वे जनता से सीधा संवाद करते हैं।

मेरा निजी अनुभव

धार्मिक एवं सामाजिक क्षेत्र में रमेश जी का योगदान अविस्मरणीय है। चाहे मंदिरों का निर्माण हो या वृद्धाश्रम-अनाथाश्रम बनवाना हो, रमेश जी सदैव समाज के कार्यों में बढ़चढ़कर हिस्सा लेते रहे है। वे जनता से सीधा संवाद करते हैं।

  • Main I

    अभिषेक पंडित

    देवास नाका, इंदौर
  • Main I

    योगेश शर्मा

    स्कीम नं 78, इंदौर
  • Main I

    दीपक सोनल

    नंदा नगर, इंदौर